बहुत कम लोग होते हैं जो आलोचक होकर भी लोगों के प्रिय होते हैं। वे जिनकी आलोचना करते हैं उन्हीं के दिलों पर राज भी करते हैं। जिन्होंने आलोचना को नई पहचान दिया, इस विधा को नई ऊंचाई दी। ऐसे महान पुरोधा और प्रख्यात समालोचक, आलोचक डॉ नामवर सिंह अब […]

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस तो वक्त है बदलाव की बात कहकर सत्ता में आई थी। पर शासन की बागडोर संभालते ही बदलापुर की राजनीति शुरू हो गई। सरकार ने झीरम, अंतागढ़, नान जैसे तमाम मामलों में एक एक कर बीजेपी को लपेटना शुरु कर दिया है। अब तो सरकार ने बीजेपी […]

भोपाल, 03 फरवरी। साहित्यिक पत्रकारिता का कार्य है- ठहरे हुए समाज को सांस और गति देना। जो समाज बनने वाला है, उसका स्वागत करना। नयी रचनाशीलता और नयी प्रतिभाओं को सामने लाना साहित्यिक पत्रकारिता की जरूरी शर्त है। यह विचार वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. विजय बहादुर सिंह ने 11वें पं. बृजलाल द्विवेदी अखिल भारतीय साहित्यिक […]

माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के विरुद्ध मुहिम चलाने वाले पूर्व पत्रकार पूर्णेंदु शुक्ला ने विश्वविद्यालय से लाखों रुपये की फैलेशिप ली, किंतु अपना शोध प्रबंध जमा नहीं किया। विश्वविद्यालय ने जब उन पर दबाव बनाया तो वे ब्लैकमैलिंग पर उतर आए। अंतत: विश्वविद्यालय के तत्कालीन कुलसचिव डॉ. चंदर […]

सत्ता में आते ही कांग्रेस ने शिक्षा का कांग्रेसीकरण शुरू कर दिया। एक वरिष्ठ और सपर्पित पत्रकार जिन्होंने इंडिया टूडे, जनसत्ता जैसे देश के बड़े समाचार समूहों में वर्षों तक कई अहम पदों को सुशोभित किया,उस विलक्षण कुलपति को कांग्रेस की सरकार ने मानसिक रूप से प्रताड़ित कर इस्तीफा ले […]

‘हिंदू तन-मन, हिंदू जीवन, रग-रग हिंदू मेरा परिचय’ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ राजनीति के एक युग का अवसान हो गया है। यह युग भारतीय राजनीति के इतिहास के पन्नों पर अमिट स्याही से दर्ज हो गया है। भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों, आदर्शों और सिद्धांतों को जानने के […]

My Times Today. Roughly two decades ago, Doresanipalya forest research station, on the outskirts of Bengaluru, found itself ambushed a ring of glass and concrete monoliths. Borewells on the 91 acre campus turned into a paradise for butterflies. The Bangalore butterfly club decided that this oasis of green must […]