कविता – मां मेरी

मां मेरी… ———— मां मुझे तुम सबसे प्यारी, तुमसे जानी दुनिया सारी अच्छा-बुरा सब मैं न जानूं, मां मैं तुमको बस अपना मानूं मैंने तुमसे जन्म है पाया, तुमने ही संसार दिखाया मां मुझे तुम सबसे प्यारी, तुमसे जानी दुनिया सारी मां मैं जब-जब देखूं तुमको, मिलती खुशियाँ मेरे मन को मेरे जीवन की हर कठनाई, मां तुमने ही दूर भगाई मां मुझे तुम सबसे प्यारी, तुमसे जानी दुनिया सारी मां तुमने परछाई बनकर, साथ दिया है मेरा हरपल जब देखीं तकलीफें मेरी, उड़ जाती थीं नींदें तेरी मां मुझे…

Read More