Posted in News

आरा महायज्ञ के अंतिम दिन उमड़ा लाखों जनसैलाब, विश्व रिकार्ड ऐतिहासिक यज्ञ का गवाह बना बिहार

आरा महायज्ञ में उमड़ा लाखों श्रद्धालुओं का जनसैलाब

माय टाइम्स टुडे। अमेरिका कनाडा से लेकर देश के कोने कोने से आए लाखों की संख्यां में श्रद्धालु, उत्तर भारत से दक्षिण भारत के महानतम संतों से सुशोभित मंच,1008 यज्ञ महामंडप, प्रत्येक यज्ञ मंडप से एक साथ वैदिक मंत्रोच्चार की गूंज, भक्तों की जय जयकार और उमंग के विहंगम विराट ऐतिहासिक अलौकिक दृश्य का गवाह बना आरा.

महायज्ञ के लिए बने 1008 यज्ञ मंडप.

विश्व धर्म सम्मेलन को संबोधित करते हुए संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहा कि हमे जात- पात छुआछूत से ऊपर उठाकर स्वच्छ भारत बनाने की जरूरत है। हम अंदर के नारायण का ध्यान और बाहर के नारायण की सेवा करेंगे, तभी देश और समाज का कल्याण होगा।

श्री भागवत ने रामानुज स्वामी को याद करते हुए कहा कि रामानुज संप्रदाय के शरण में जो आ जाता है, वह मोक्ष का अधिकारी बन जाता है। रामानुजाचार्य दर्शन मानव मात्र के लिए प्रेरणा स्त्रोत है. हमें रामानुजाचार्य के संदेश को जीवन में उतारने का संकल्प लेना चाहिए। 

विश्व धर्म सम्मेल में अपनी बात रखते संघ प्रमुख मोहन भागवत
जल यात्रा के दौरान लगा भक्तों का हुजूम

आपको बता दें कि बिहार के आरा में रामानुज स्वामी के सहस्राब्दी जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित ऐतिहासिक यज्ञ का समापन गुरूवार को हो गया. 25 सितंबर से जारी इस यज्ञ में देश विदेश से लाखों श्रद्धालु शामिल हुए. विश्व में पहली बार ऐसा यज्ञ हुआ जहां एक साथ 1008 यज्ञ महामंडपों एक साथ वैदिक विधि विधान से यज्ञ हुआ.

जल यात्रा में वैदिक परंपरा को ध्यान में रखते हुए सबसे आगे अश्व, गज, ऊंट के साथ तकरीबन सवा लाख कलश लिए श्रद्धालु शामिल हुए थे.

विश्व धर्म सम्मेलन में मच पर संतों के साथ नीतीश कुमार

यज्ञ के अंतिम दिन गुरूवार को भजन संध्या कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें भजन गायक अनूप जलोटा, भोजपुरी गायक भरत शर्मा आदि के साथ देश के अनेक बड़े गायकों ने अपनी सुंदर प्रस्तुति से दर्शकों मन मोह लिया. इसके पहले बुधवार को अंतरराष्ट्रीय धर्म सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें सभी सम्प्रदायों के महानतम संतो ने भाग लिया.इस मौके पर संघ प्रमुख मोहन भागवत, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद आदि गणमान्य लोग मौजुद रहे.

विश्व में इसके पहले कभी इस तरह का अायोजन नहीं हुआ जिसमें एक साथ 1008 यज्ञ मंडप बनाए गए हो. श्रद्घालुओं के जनसैलाब को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे कुंभ लगा हो.

भजन संध्या कार्यक्रम में प्रस्तुति देते भोजपुरी गायक पवन सिंह

महायज्ञ की पूर्णाहुति की शाम जीयर स्वामी का मुंडन अभिषेक संस्कार वैदिक मंत्रोच्चार के बीच किया गया. सबसे पहले बाल-दाढ़ी हटाकर मुंडन किया गया. इसके बाद स्नान कराया गया. जनेऊ, पुराना वस्त्र व खड़ाऊ बदला गया.

Posted in News

सर्वेभ्य: देशप्रमिभ्य: स्वातंत्र्यदिवसोपतेस्य शुभाशया: मंगलकामनाश्च – स्वामी वासुदेवाचार्य:

माय टाइम्स टुडे। मंगलवार, अयोध्या, उत्तर प्रदेश।


जयति भारतवर्षदेशः ।
जयति भारतवर्षदेशः ।।
यस्य पावन भूमि भागे क्रीडितुं वाञ्छति परेश: ।
जयतिभारतवर्षदेशः ।। जयतिभारतवर्षदेशः
यं सदा चकमे कुबेरों जन्मनाञ्चति राघवेशः।
यत्र नूनं गूढ़लिंगं ब्रह्म नृत्यति गोपवेशः ।।
जयति भारतवर्षदेशः ।
जयति भारत वर्षदेशः ।।
मुक्तिर्निवसतां यत्र दासी ;राजते सात्रैव काशी ।
धाम्नि धाम्नि सुशोभते चाद्यापि भूतपतिर्महेश: ।।
जयति भारतवर्षदेशः । जयति भारतवर्षदेशः ।।
यस्य गायति यशो भासः येन खेलति कालिदासः ।
स्वरैर्भवभूते:प्ररोदिति यस्य पञ्चवटीप्रदेशः ।।
जयति भारतवर्षदेशः। जयति भारतवर्षदेशः ।।
ज्ञानमार्गप्रकाशकार्य: जयति भुवि शंकराचार्य: ।
संस्थाप्य लोकेsद्वैतभावं यैर्जितो बौद्धाद्यशेषः ।।
जयति भारतवर्षदेशः। जयति भारत वर्षदेशः ।।
भक्तिमार्गप्रकाशनार्थं सज्जनान् संतारणार्थम् ।
जयतु भुवि रामानुजार्यो योsभवद्भुवनादिशेषः।।
यवनललनाहृदयताप: प्रतापो यस्यप्रताप :
स्मर्यते श्रद्धानतै:शिवराज सिंहो वीरवेशः ।।
जयति भारतवर्षदेशः जयतिभारतवर्षदेशः ।।
यस्य पावनभूमिभागे क्रीडितुतुं वांछति परेश :।।
समस्त देशवासियों को स्वतन्त्रतादिवस हार्दिक बधाई ।।

जगद्गुरू स्वामी वासुदेवाचार्य जी महाराज 

कोसलेसदन अयोध्या