कलेजा चाहिए खबरों से दिल लगाने के लिए : जश्न ए उर्दू भोपाल

माय टाइम्स टुडे,भोपाल।आज भले ही पत्रकारिता मिशन की बजाए फ्रोफेशन बन गयी है। देश के बड़े बड़े कॉरपोरेट्स मीडिया पेशे को उत्पाद के रूप में बेचने लगे हैं। दिन पर दिन लोगों का खबरों और उसकी विश्वसनियता पर संदेह होने लगा हैं। लेकिन खबरों के बाजारीकरण के इस दौर में भी बहुत से ऐसे पत्रकार है जो किसी भी किमत पर सच से समझौता करने को तैयार नहीं है। जश्न ए उर्दू समापन समारोह में अपनी बात रखते हुए वरिष्ठ पत्रकार डॉ मेहताब आलम ने ये बात कही। उन्होंने शायराने…

Read More