Posted in News

पुष्पक विमान से आये राम, अयोध्या का पुराना वैभव लौटाएंगे : योगी आदित्यनाथ


MY TIMES TODAY. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को अयोध्या में छोटी दिवाली के मौके पर अयोध्यावासियों को कई योजनाओं की सौगात दी.आपको बता दें कि दिवाली के मौके पर अयोध्या में अभूतपूर्व दिवाली का आयोजन किया गया है. अयोध्या को त्रेता युग की तर्ज पर सजाया गया है जहां सरयू तट पर रिकार्ड 1 लाख 73 हजार दीए जलाए गए है.यूपी सीएम ने इस मौके पर पुष्पक विमाने से उतरने पर राम लक्ष्मण और सीता का स्वागत किया.स्वागत और पूष्प वर्षा के बाद योगी मंच पर पहुंचे जहा यूपी के राज्यपाल राम नाईक, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा,  जगदगुरू स्वामी वासुदेवाचार्य जी महाराज सहित देश के अनेक सम्मानित संत मौजुद रहे. योगी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह राम राज्य की परिकल्पना को साकार करने व अयोध्यावासियों के गौरव लौटाने के लिए आया हूं.

आईए जानते है योगी ने अपने संबोधन में क्या कुछ कहा :

देश को नकरात्मकता से सकरात्मकता की ओर ले जाने की शुरूवात है.हमारे पीएम ने देश को जो नेतृत्व दिया है वह हम सबके लिए प्रेरणा स्रोत है.

अयोध्या ने देश को दिवाली और दीपोत्सव मनाने का अवसर दिया है.अयोध्या को लगातार नकारा गया है और अयोध्या पर समय समय पर प्रहार होते रहे है.हमेंं अयोध्यया के गौरव को लौटाना हैै.

पूरे यूपी और अयोध्या को विश्व पर्यटन का हब बनाना है. इसके लिए यूपी को विशेष तौर पर तैयार किया जा रहा है.इसके लिए 133 करोड़ की योजना की स्वीकृति मिल गयी है.हमें अपने विरासत को सहेज कर रखना है.

अयोध्या को नगर निगम बनाया गया है. अयोध्या व यूपी के अन्य जगहों पर सार्वजनिक शौचालय, धर्मशाला, सड़क, बिजली, पानी की सुविधाएं मुहैया कराई जाएगी.

पहले यूपी को जाति, धर्म और विकास के नाम पर बांट कर देखा जाता था.पहले की सरकार रावण राज्य की तर्ज पर थी.अब यूपी में सरकार राम राज्य की परिकल्पना को साकार करेगी.

हमारी सरकार नदियों की संस्कृति और पवित्रता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है.इसके लिए हमने सरयू जी की आरती का भी शुभारंभ किया है. सरकार घाटों के निर्माण के लिए भी प्रतिबद्ध है.

सरकार युवाओं के भविष्य और रोजगार सुनिश्चित करने लिए भी निरंतर प्रयासरत है.

2022 तक सबके सर के ऊपर छत, बिजली, सड़क पानी पहुंचाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है.

रामलीला सिर्फ भारत तक सीमित नहीं है, दुनिया के छोटे बड़े 12 देशों में रामलीला का आयोजन किया जाता है.जिसमें कई मुस्लिम देश भी शामिल है.

आगे सरकार की योजना है कि रामायण महोत्सव के मौके पर एक मंच पर सभी देशों की रामलीलाओं का मंचन किया जाए.

सरकार ने 22 लाख घरों को बिजली दिया है. इसके साथ ही सरकार ने छात्रों के लिए एक करोड 53 लाख यूनिफार्म वितरित किए गए है.

जिस घर में कभी बिजली और चुल्हे नहीं थे उस घर में आज बिजली और गैस सिलिंडर है, यही तो रामराज्य है.

इस मौके पर सीएम ने लोगों को प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रमाण पत्र भी वितरित किए.

इसके बाद सीएम सरयू तट पहुंचे जहा पर उन्होंने 21 दीए जलाए. इस दौरान उनके साथ राज्यपाल राम नाईक,  उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, जगद्गुरू स्वामी वासुदेवाचार्य आदि ने भी दीए जलाए.इस तरह कुल 1 लाख 71 हजार से अधिक दीए जलाकार अयोध्या ने रोशनी का नया विश्व रिकार्ड कायम किया है.

साथ ही लेजर लाइट के जरिए रामलीलाओं का मंचन भी किया जा रहा है.

इस मौके पर केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि हम अभी भले राम राज्य न बना पाएं पर राम राज जरूर लाएंगे .

Posted in News

दुल्हन की तरह सजा अयोध्या : त्रेता युग की तर्ज पर आज मनेगी दिवाली


MY TIMES TODAY.  हम सभी जानते हैं कि अयोध्या भगवान राम की जन्मभूमि है. जब भगवान राम वनवास के बाद अयोध्या लौटकर आये थे तो पुरे अयोध्या नगरी को सजाया गया था, दीए जलाए गए थे, सुंदर झाकियां निकाली गयी थी. उसी दिन से देशभर में दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. आज उसी त्रेता युग के तर्ज पर अयोध्या को सजाया जा रहा है.आज छोटी दिवाली के मौके पर अयोध्या में त्रेता युग की झलक देखने को मिलेंगी.इस अभूतपूर्व आयोजन में चार चांद लगाने की पूरी कोशिश की जा रही है. इस मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ भी आज अयोध्या पहुंचेंगे.उनके आगमन को लेकर भी तैयारियां शुरू हो गयी है.

आईए जानते हैं क्यों खास है इसबार अयोध्या की दिवाली:

योगी सरकार अतीत को आधुनिकता के दौर में भी जीवंत रखने के लिए अयोध्या में अभूतपूर्व दिवाली मना रही है.इस बार अयोध्या की दिवाली को त्रेता युग की झलक दी जा रही है.


प्रतिकात्मक फोटो

योगी आदित्यनाथ शाम 3:40 बजे फैजाबाद पहुचेंगे इसके बाद वे अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचेंगे. इस दौरान साकेत से निकलकर शोभा यात्रा की रामलीला झाकियां भी पहुंचेंगी.इस दौरान राम से जुड़े अलग-अलग काण्ड पर आधारित झाकियां अपने भव्य स्वरूप में दिखाई देंगी. ट्रकों पर बने मंच पर शोभायमान कुल 11 झाकियां होंगी, जिसके सामने लोक कलाकार संबंधित काण्ड से जुड़ी नृत्य नाटिका प्रस्तुत कर रहे होंगे. यह शोभायात्रा साकेत महाविद्यालय से दोपहर बाद 2 बजे निकलकर अयोध्या की सड़कों से गुजरती हुई लगभग 3 किलोमीटर के सफर के बाद शाम 4 बजे रामकथा पार्क पहुंचेगी. रास्ते में लोग इन शोभायात्राओं पर पुष्प वर्षा कर रहे होंगे और खुशियां मनाते हुए जयकारे लगा रहे होंगे.

राम की पैड़ी पर जलेंगे 1,71,000 दीप :
शाम 6 से 7 बजे तक सरयू नदी पर स्थित राम की पैड़ी में 1,71,000 दीप जलाए जाएंगे. इसके अलावा अन्य सभी घाटों पर दीप प्रज्ज्वलित होंगे. नया घाट पर शाम 7:15 से 7:45 तक लेजर शो से रामकथा का प्रदर्शन होगा. रात्रि में 8 से 9:30 बजे तक रामलीला का भी मंचन होगा.

5100 दीयों से होगी मां सरयू की आरती :

इस मौके पर शाम 6 बजे 5100 दीये जलाकर मां सरयू की आरती होगी.इस महाआरती में सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजुद रहेंगे.करीब 15 मिनटों तक पूजन का कार्यक्रम होगा.

इंडोनेशिया और थाईलैंड के कलाकार रहेंगे मौजुद : 

इस अभूतपूर्व यात्रा के दौरान थाईलैंड और इंडोनेशिया से आये कलाकार भी भाग लेंगे जो विभिन्न स्थानों पर सुंदर झाकियों और रामलीलाओं का मंचन भी करेंगे.

शाम पांच बजे होगा योगी का भाषण : 

इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ का संबोधन भी होगा.खबरों के मुताबिक योगी शाम पांच बजे सभा को संबोधित कर सकते है.साथ ही इस मौके पर सीएम अयोध्यावासियों को साढ़े तेरह लाख योजनाओं की सौगात भी दे सकते है.

पुष्पक विमान की तर्ज पर उड़ान भरेंगे राम लक्ष्मण :

भगवान राम अपने भाई लक्ष्मण और पत्नी सीता के साथ पुष्पक विमान की तर्ज पर फैजाबाद हवाई पट्टी से हेलिकॉप्टर में सवार होकर सीधे अयोध्या के रामकथा पार्क पहुंचेंगे. जहां खड़ाऊं लेकर योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल रामनाइक उनकी अगवानी करेंगे. उसके बाद उनका पूजन अर्चन होगा और बाकायदा रामदरबार लगेगा और उनका राज्याभिषेक किया जाएगा.