युवा पत्रकारों को यह साक्षात्कार अवश्य पढ़ना चाहिए

माय टाइम्स टुडे। आज हमारे साथ है देश के जाने माने वरिष्ठ पत्रकार सुमंत भट्टाचार्य। आज के दौर में पत्रकारिता कैसी होनी चाहिए? युवा पत्रकारों को किस तरह से पत्रकारिता करनी चाहिए? ऐसे गंभीर सवालों का जवाब ढुंडने के लिए हमने सुमंत भट्टाचार्य से विशेष बात- चीत की है। एक पत्रकार का जीवन कैसा होना चाहिए ? सुमन्त – पत्रकारिता दरसल समाज के विश्वास की पूंजी पर चलती हैं, इसलिए एक पत्रकार का जीवन पारदर्शी होना चाहिए, ठीक उसी तरह जैसे एक भारतीय संत का जीवन होता हैं जिनका शयन कक्ष…

Read More

हमारी पत्रकारिता में भी ‘राष्ट्र सबसे पहले’ होना चाहिए

MY TIMES TODAY.मौजूदा  दौर में समाचार माध्यमों की वैचारिक धाराएं स्पष्ट दिखाई दे रही हैं। देश के इतिहास में यह पहली बार है, जब आम समाज यह बात कर रहा है कि फलां चैनल/अखबार कांग्रेस का है, वामपंथियों का है और फलां चैनल/अखबार भाजपा-आरएसएस की विचारधारा का है। समाचार माध्यमों को लेकर आम समाज का इस प्रकार चर्चा करना पत्रकारिता की विश्वसनीयता के लिए ठीक नहीं है। कोई समाचार माध्यम जब किसी विचारधारा के साथ नत्थी कर दिया जाता है, जब उसकी खबरों के प्रति दर्शकों/पाठकों में एक पूर्वाग्रह रहता है। वह समाचार…

Read More

‘ मेरी रगों में मेरी सेना है ‘ मेरा संदेश मेरे सैनिकों के नाम

माय टाइम्स टुडे, इंद्रभूषण मिश्र।हमारे सेना के जवान अपनी तमाम खुशियां, परिवार और अपने अपनों से दूर रह कर, धूप – छांव,  आंधी- तुफान की परवाह किए बिना दिन रात सीमा पर हमारी रक्षा के लिए मुस्तैद रहते है। हमारे सैनिकों की समर्पण और बलिदान के दम पर ही हम सभी अपने घरों में चैन की नींद सो पाते है। इसलिए हमारा भी दायित्व बनता है कि हम भी अपने जवानों के लिए कुछ करें। माय टाइम्स टुडे ने सेना के जवानों के लिए एक विशेष अभियान “मेरी रगों में…

Read More