Posted in Admissions alert Education and Educational support trending

फार्चुनेट 40 : आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों की मदद के लिए फिटजी की एक सामाजिक पहल

नई दिल्ली : फिटजी के द्वारा आईआईटी – जेईई के प्रशिक्षण के लिए एक सामाजिक पहल के तहत, 3 फरवरी, 2019 को नोएडा समेत देश भर में फार्चुनेट 40 प्रवेश परीक्षा आयोजित की जाएगी। जिससे की दिल्ली समेत पुरे भारत के मेधावी छात्र जो आर्थिक रूप से कमज़ोर हैं उनको काफी मदद मिलेगी।

यह प्रोग्राम जल्द ही नौवीं और ग्यारहवीं कक्षा में जाने वाले मेधावी छात्रों को आर्थिक रूप से मदद करता है जिनकी कुल पैतृक आय 10,000 रुपये प्रति माह से कम है। फिटजी इन मेधावी छात्रों को उनके सपनों के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए फिटजी प्रोग्राम के लिए 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति और छात्रावास शुल्क पर 100 प्रतिशत छूट प्रदान करके उनकी तैयारी में मदद करता है। इंटीग्रेटेड स्कूल प्रोग्राम के लिए छात्र से स्कूल का शुल्क लिया जाएगा (कुछ स्थानों पर स्कूल शुल्क पर छात्रवृत्ति भी प्रदान की जा सकती है)। प्रत्येक स्थान पर, प्रत्येक प्रोग्राम के लिए फार्चुनेट 40 बैच में अधिकतम 40 छात्र होंगे।

आर्थिक समस्याओं के बावजूद पहले भी कई छात्रों को फिटजी के फार्चुनेट 40 के माध्यम से चुना गया और आईआईटियन बनने के उनके सपने को पूरा करने में मदद की गई। फिटजी के फार्चुनेट 40 टेस्ट के माध्यम से विजयवाड़ा के एमएसके मनोहर को फिटजी के पिनेकल प्रोग्राम में दाखिला लेने का मौका मिला और अपनी कड़ी मेहनत और फिटजी की कोचिंग से, उन्होंने जेईई एडवांस्ड, 2018 में अखिल भारतीय रैंक 5 हासिल किया।

2018 में अखिल भारतीय रैंक 5 हासिल करने वाले जेईई एडवांस्ड टाॅपर एमएसके मनोहर ने कहा, “मेरे पिता दर्जी थे और ऐसी हालत में मेरे लिए आईआईटी के बारे में सोचना भी एक सपना था। जब मेरा सपना ख़त्म होने की कगार पर था, तो मैं फिटजी के फार्चुनेट 40 टेस्ट में शामिल हुआ और मुझेे 100 प्रतिशत छात्रवृत्ति के साथ पिनेकल – टू इयर इंटीग्रेटेड स्कूल प्रोग्राम का आॅफर दिया गया। फिटजी ने मुझे न केवल अकादमिक बल्कि नैतिक और आर्थिक रूप से हर संभव तरीके से मदद की।

सभी बच्चों को उनकी कमजोर पृष्ठभूमि के बावजूद गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की दृष्टि से फिटजी ने ‘फार्चुनेट 40’ प्रोग्राम को शुरू किया है। इस पहल ने पहले ही शिक्षा में समान और निष्पक्ष अवसर को बढ़ावा दिया है और छात्रों के बीच उनकी आर्थिक पृष्ठभूमि के आधार पर किसी भी तरह की असमानता को दूर किया है।

फिटजी के निदेशक श्री आर. एल. त्रिखा ने कहा, ‘‘आईआईटी में प्रवेश की प्रतियोगिता समय के साथ कठिन और कठिन होती जा रही है। यह बौद्धिक क्षमता वाले और मेधावी उम्मीदवारों के लिए भी एक आसान अभ्यास नहीं है, क्योंकि जेईई को क्रैक करने के लिए विधिपूर्वक कठोर प्रशिक्षण और मार्गदर्शन की बहुत आवश्यकता होती है और आर्थिक रूप से कमजोर पृष्ठभूमि वाले छात्र ऐसे कोचिंग कार्यक्रमों का अक्सर लाभ नहीं उठा पाते हैं। हमारा फार्चुनेट 40 प्रोग्राम ऐसे छात्रों के लिए इस बड़ी लीग में शामिल होने के लिए उन्हें प्रेरित करने के लिए शुरू किया गया है, जो आवश्यक मार्गदर्शन और प्रशिक्षण के अभाव में इस अवसर को खो सकते हैं। पिछले कुछ वर्षों में, हमारे द्वारा आर्थिक सहायता प्राप्त और प्रशिक्षित इन छात्रों में से कई छात्रों ने सफलता के नए मानदंड बनाए हैं और हमें काफी गर्वान्वित किया है।’’

‘फॉर्चुनेट 40’ टेस्ट वर्तमान में आठवीं कक्षा (नौवीं कक्षा में जाने वाले) और वर्तमान में 10वीं कक्षा (11वीं कक्षा में जाने वाले) के छात्रों के लिए है जिनकी कुल पैतृक आय 10,000 रुपये प्रति माह से कम है। फिटजी इन मेधावी छात्रों को उनके सपनों के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए फिटजी प्रोग्राम के लिए 100 प्रतिषत छात्रवृत्ति और छात्रावास शुल्क पर 100 प्रतिशत छूट प्रदान करके उनकी तैयारी में मदद करता है। हालांकि इंटीग्रेटेड स्कूल प्रोग्राम के लिए छात्र से स्कूल का शुल्क लिया जाएगा।
चयन परीक्षा दिल्ली (दक्षिणी दिल्ली, पंजाबी बाग, द्वारका और पूर्वी दिल्ली), दिल्ली एनसीआर (फरीदाबाद, गाजियाबाद, गुड़गांव और नोएडा), इलाहाबाद, अमृतसर, बैंगलोर, भिलाई, भोपाल, भुवनेश्वर, बोकारो, चंडीगढ़, चेन्नई, कटक, धनबाद, देहरादून, दुर्गापुर, गोरखपुर, ग्वालियर, हिसार, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कानपुर, कोच्चि, कोलकाता, खड़गपुर, लखनऊ, मेरठ, मुंबई, नागपुर, पटना, पुणे, रांची, रायपुर, सलेम, शक्तिनगर एनटीपीसी, वडोदरा, वाराणसी, विजयवाड़ा, विशाखापत्तनम और वर्धा में केंद्रों पर आयोजित की जाएगी। टेस्ट आयोजित किये जाने वाले अन्य शहरों में आरा, कोरबा, गया और मुजफ्फरपुर शामिल हैं।
टेस्ट के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 2 फरवरी 2019 है और फार्चुन 40 बैच के लिए पात्र होने के लिए, छात्रों को व्यक्तिगत विषय कट-ऑफ और साथ ही कुल कुल कट-ऑफ को क्लियर करना होगा।
परिणाम की घोषणा 13 फरवरी 2018 से शुरू होगी और www.fiitjee.com & www.fiitjee.com/f40.html पर उपलब्ध होगी।

Posted in Education and Educational support

This is how salmonella infects plant

My Times Today.Contamination of salad vegetables  E.coli and Salmonella bacteria are the most common causes of food poisoning. Although most Salmonella outbreaks are linked to contamination during handling and transportation of the vegetables, there are also cases where the infectious bacteria had entered the plant when it was still in the farmland.How does it enter the plant? So far, the mechanism was not known. A new study researchers at the Indian Institute of Science  and the University of Agricultural Sciences, Bengaluru, has solved the mystery.They have found that unlike other disease-causing bacteria that enter the root, fruit or leaf producing enzymes to break down the plant’s cell wall, Salmonella sneaks in through a tiny gap created when a lateral root branches out from the plant’s primary root.The researchers were studying how different types of bacteria colonize the roots of tomato plants. While other bacteria were spread across the root, Salmonella clustered almost exclusively around areas where lateral roots emerge. When a lateral root pierces open the wall of the primary root to spread across the soil, it leaves behind a tiny opening. They figured out that it was entering through the gap with the help of fluorescent tagging and imaging.