क्या पीके का तीर निशाने पर लगेगा ?

एमटीटी। राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले प्रशांत किशोर तमाम अनुमानों और अटकलों पर विराम लगाते हुए जेडीयू में शामिल हो गए। पटना में हुई पार्टी की मीटिंग में बिहार के सीएम और पार्टी सुप्रीमो नीतीश कुमार की मौजूदगी में किशोर ने तीर का दामन थाम लिया। इस खबर के बाद बिहार की राजनीति में सियासी उबाल और चर्चाओं का दौर भी शुरू हो गया। प्रशांत किशोर लगभग एक दशक से राजनीतिक रणनीतिकार के रुप में काम कर रहे हैं। हालांकि अब वे सक्रिय भूमिका में राजनीति में शामिल हो गये…

Read More

#93 के अटल जी की 93 कहानियां : दूसरी कहानी – विषम परिस्थितियों में भी अटल थे वाजपेयी जी

एमटीटी। “देश एक मंदिर है, हम पुजारी है, राष्ट्रदेव की पूजा में हमें खुद को समर्पित कर देना चाहिए”। इस साधारण से वाक्य से किसी की देश के प्रति पूर्ण समर्पण और निष्ठा झलकती है। ये बातें एक ऐसे शख्सियत ने कही है जिसका न कि किसी जाति या संप्रदाय से संबंध था, था तो बस इंसानियत से, भारतवर्ष के लोगों से । अपनी सादगी और विनम्र स्वभाव से लोगों के दिलो-दिमाग में खास जगह बनाई। एक ऐसे प्रधानमंत्री जिन्होनें लोकतंत्र की ललाट पर अपने विजय की कहानी स्वयं रची। अपने…

Read More

#93 के अटल जी की 93 कहानियां: पहली कहानी- अटल कभी मरते नहीं

‘हिंदू तन-मन, हिंदू जीवन, रग-रग हिंदू मेरा परिचय’ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ राजनीति के एक युग का अवसान हो गया है। यह युग भारतीय राजनीति के इतिहास के पन्नों पर अमिट स्याही से दर्ज हो गया है। भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों, आदर्शों और सिद्धांतों को जानने के लिए अटल अध्याय से होकर गुजरना ही होगा। अटल युग की चर्चा और अध्ययन के बिना भारतीय राजनीति को पूरी तरह समझना किसी के लिए भी मुश्किल होगा। उन्होंने भारतीय राजनीति को एक दिशा दी। उन्होंने वह कर दिखाया, जिसकी…

Read More

#मेरेअटल : ‘भारत रत्न अटल जी’ प्रचारक से पीएम तक का सफर

एमटीटी। मेरे अटल। अटल जी को  नमन।  हिंदुस्तान की राजनीति के अजातशत्रु अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर, मध्यप्रदेश में हुआ। इनके पिता का नाम कृष्णा बिहारी वाजपेयी और माता का नाम कृष्णा देवी था। इनके पिता अपने गाँव के स्कूल में स्कूलमास्टर थे। वे बहुत ही अनुशासित और कविता प्रिय थे। यही वजह है कि वाजपेयी को भी बचपन से ही कविताओं से लगाव रहा। शिक्षा : वाजपेयी ने प्रारम्भिक शिक्षा गोरखी विद्यालय से प्राप्त की और बाद में आगे की पढाई ग्वालियर के विक्टोरिया…

Read More

विशेष : भारतीय राजनीति के अजेय योद्धा अटल बिहारी वाजपेयी

अटल बिहारी बाजपेयी भारत के बेमिसाल नेताओं में से एक है। अटल बिहारी बाजपेयी, भारत के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। अटल के नाम तो पीएम के रूप में सबसे कम समय तक पीएम रहने का रिकॉर्ड है मात्र 13 दिन। पीएम के रूप वे हमेशा लोगों से जुड़े रहे और कविता के माध्यम से लोगों के बीच में अपनी पहुंच बना पाने में कामयाब रहे. आज अटल केवल अटल नहीं है बल्कि वे भारत रत्न हैं। इनके जीवन की बहुत सारी ऐसी घटनाऐं हैं जो देश की सारी…

Read More