#93 के अटल जी की 93 कहानियां: पहली कहानी- अटल कभी मरते नहीं

‘हिंदू तन-मन, हिंदू जीवन, रग-रग हिंदू मेरा परिचय’ पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ राजनीति के एक युग का अवसान हो गया है। यह युग भारतीय राजनीति के इतिहास के पन्नों पर अमिट स्याही से दर्ज हो गया है। भारत के लोकतांत्रिक मूल्यों, आदर्शों और सिद्धांतों को जानने के लिए अटल अध्याय से होकर गुजरना ही होगा। अटल युग की चर्चा और अध्ययन के बिना भारतीय राजनीति को पूरी तरह समझना किसी के लिए भी मुश्किल होगा। उन्होंने भारतीय राजनीति को एक दिशा दी। उन्होंने वह कर दिखाया, जिसकी…

Read More

#मेरेअटल : ‘भारत रत्न अटल जी’ प्रचारक से पीएम तक का सफर

एमटीटी। मेरे अटल। अटल जी को  नमन।  हिंदुस्तान की राजनीति के अजातशत्रु अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर, मध्यप्रदेश में हुआ। इनके पिता का नाम कृष्णा बिहारी वाजपेयी और माता का नाम कृष्णा देवी था। इनके पिता अपने गाँव के स्कूल में स्कूलमास्टर थे। वे बहुत ही अनुशासित और कविता प्रिय थे। यही वजह है कि वाजपेयी को भी बचपन से ही कविताओं से लगाव रहा। शिक्षा : वाजपेयी ने प्रारम्भिक शिक्षा गोरखी विद्यालय से प्राप्त की और बाद में आगे की पढाई ग्वालियर के विक्टोरिया…

Read More

अटल जी के साथ ही शुरू हुआ था विद्याचरण शुक्ल का करियर

रायपुर : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी का गुरूवार को निधन हो गया। उन्होंने 93 वर्ष की आयु में एम्स में अंतिम सांस ली। अटल जी का छत्तीसगढ़ से गहरा नाता रहा है। राज्य के निर्माता होने के साथ- साथ वाजपेयीजी के कई यादें छत्तीसगढ़ से जुड़ी है। छत्तीसगढ़ के दिवंगत नेता विद्याचरण शुक्ल का राजनीतिक कैरियर शुरू हुआ था। दोनों ही नेता 1957 मे पहली बार  लोकसभा का चुनाव जीतकर संसद में  पहुंचे थे। उस वक्त पंडित विद्याचरण शुक्ल की उम्र  केवल 27 साल थी। वहीं वाजपेयी जी तब 32 साल…

Read More

नहीं रहे अटल बिहारी वाजपेयी. एम्स में ली अंतिम सांस

भारत के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्रियों में शुमार किए जाने वाले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी नहीं रहे। 93 साल की आयु में दिल्ली के एम्स में उनका निधन हो गया। वे विगत कुछ दिनों से एम्स में भर्ती थे। बुधवार को अचानक उनकी तबियत बिगड़ गयी। जिसके बाद डॉक्टर्स ने उन्हें लाइफ सपोर्ट पर रखा, लेकिन आखिरकार काल के कपाल पर लिखने मिटाने वाले मौत को पराजीत नहीं कर सकें। बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और 2009 से ही व्हीलचेयर…

Read More

विशेष : भारतीय राजनीति के अजेय योद्धा अटल बिहारी वाजपेयी

अटल बिहारी बाजपेयी भारत के बेमिसाल नेताओं में से एक है। अटल बिहारी बाजपेयी, भारत के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं। अटल के नाम तो पीएम के रूप में सबसे कम समय तक पीएम रहने का रिकॉर्ड है मात्र 13 दिन। पीएम के रूप वे हमेशा लोगों से जुड़े रहे और कविता के माध्यम से लोगों के बीच में अपनी पहुंच बना पाने में कामयाब रहे. आज अटल केवल अटल नहीं है बल्कि वे भारत रत्न हैं। इनके जीवन की बहुत सारी ऐसी घटनाऐं हैं जो देश की सारी…

Read More