विशेष : नाराजगी और असंतोष के बाद भी छत्तीसगढ़ में एक बार फिर से रमन सरकार…

MY TIMES TODAY. छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के मतदान के साथ ही सभी 90 सीटों पर प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम मशीन में कैद हो गयी। वोटर्स ने अपना मत दे दिया है, अब फैसला 11 दिसंबर को आना है। लेकिन अब फैसले से पहले सभी राजनीतिक दल अपनी- अपनी जीत के दावे ठोक रहे हैं। राजनेताओं के साथ – साथ विशेषज्ञ भी सियासी समीकरण सुलझाने में लगे है। वैसे भी जब तक परिणाम नहीं घोषित किया जाता है तब तक कयासों का बाजार गर्म रहेगा।

छत्तीसगढ़ में पिछले 15 साल से रमन सिंह की सरकार है। इस बार कांग्रेस ने भी भरपूर कोशिश की है। हालांकि कांग्रेस की यह कोशिश , उसको सत्ता तक पहुंचाएगी, इसके आसार दिखाई नहीं पड़ रहे हैं। 2013 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस जोगी के साथ चुनाव लड़ी थी, इस बार अजीत जोगी कांग्रेस से अलग होकर चुनाव लड़ रहे हैं। तब के चुनाव में बीजेपी को 90 सीटों में से 49 और कांग्रेस को 39 सीटें मिली थी। कांग्रेस को पहले चरण की 18 सीटों में से 12 और बीजेपी को 6 सीटें मिली थी। वहीं अगर हम दूसरे चरण की बात करें तो बीजेपी को 2013 में दूसरे चरण की 72 सीटों में से 43 सीटें मिली थी। वहीं कांग्रेस के खाते में सिर्फ 27 सीटें गयी थी।

लेकिन इस बार के चुनाव में यह समीकरण निश्चित रूप से बदलेगा। बीजेपी 15 सालों से राज्य में शासन कर रही है। इस लिए सत्ता के खिलाफ लोगों का असंतोष स्वभाविक है। लेकिन यह असंतोष वोट में पूरी तरह से परिवर्तित होगा , ऐसा निश्चित नहीं है। क्योंकि बीजेपी सरकार से असंतोष के बाद भी लोग कांग्रेस के नेतृत्व से बचने की कोशिश कर रहे हैं। लोगों से बातचीत में भी यह बात खुलकर सामने आई कि सरकार के काम से वे बहुत खुश नहीं है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वे कांग्रेस के साथ है। हालांकि कुछ युवा निश्चित रुप से नोट के पक्ष में मतदान करेंगे, यह भी सच है कि नोटा से अधिक नुकसान बीजेपी को ही होना है। लेकिन इन सब के बाद भी बीजेपी एक बार फिर से सरकार बनाती दिख रही है। हमारे सर्वे के मुताबिक बीजेपी पहले चरण में 8-10 सीटों पर जीत हासिल कर सकती है। वहीं दूसरे चरण में बीजेपी को 38 – 40 सीटें मिलती दिखायी दे रही है। ऐसे में बीजेपी 46 से 50 सीटें हासिल करते हुए दिख रही है। वहीं कांग्रेस की बात करें तो वह कुल 35 से 38 सीटें जीत सकती है। अन्य सीटें जोगी कांग्रेस और निर्दलीय के खाते में जाती दिख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!