अब आतंकवादियों की खैर नहीं


माय टाइम्स टुडे। जम्मू कश्मीर। एमटीटी संवादाता। 


जम्मू कश्मीर में आतंकवाद के सफाये के लिए अब एनएसजी कमांडो तैनात किये जाएंगे. यह फैसला गृह मंत्रालय ने लिया है . जम्मू कश्मीर में एनएसजी के कमांडो 1990 के दशक में भी आतंकरोधी अभियानों के लिए आ चुके हैं, लेकिन एनएसजी को राज्य में आतंकरोधी अभियानों के लिए स्थायी तौर पर पहली बार तैनात किया जा रहा है.

[pfc layout=”layout-one” cat=”903″ order_by=”date” order=”DESC” post_number=”1″ length=”0″ readmore=”” show_date=”false” show_image=”true” image_size=”thumbnail”]

आपको बता दें कि एनएसजी कमांडो की टीम श्रीनगर पहुंच गयी है. श्रीनगर में आए एनएसजी कमांडो अत्याधुनिक हैकलर, कोच एमपी-5 सब मशीनगन, स्नाइपर राइफलों और दिवार के आरपार देखने वाले राडार और सी-4 विस्फोट से लैस हैं.

ब्लू स्टार के बाद हुआ था एनएसजी का गठन
बता दें कि एनएसजी का गठन 1984 में ऑपरेशन ब्लू स्टार के बाद हुआ था. तब से लेकर अभी तक हर बड़ेे मोर्चे पर एनएसजी ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. साथ ही गुजरात के अक्षरधाम मंदिर पर हुए आतंकी हमले के अलावा मुंबई हमलों और पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले के समय भी एनएसजी कमांडो की सेवाएं ली गई थीं. अभी एनएसजी में 7500 अधिकारी और जवान हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!