अखिलेश यादव ने आलीशान बंगले को खंडहर बना दिया

You can share it

एमटीटी नेटवर्क। यूपी के पूर्व सीएम को सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया था कि सभी पूर्व मुख्यमंत्री सरकारी बंगला खाली करें. अखिलेश यादव ने बंगला ही नहीं बंग्लो भी खाली कर दिया. जाते जाते आलीशान बंगले को खंडहर बना दिया. बता दें कि बंगले को भव्य स्वरूप देने में सरकार का करोड़ों रुपया खर्च हो गया था. इसकी सजावट में करोड़ों रुपया खर्च किया गया था। इसमें सुख सुविधाओं का हर इंतजाम किया गया था, लेकिन इसे खाली करते वक्त बुरी तरह से उजाड़ दिया गया है.


अखिलेश यादव ने बतौर पूर्व मुख्यमंत्री आवंटित बंगला, चार विक्रमादित्य मार्ग दो जून को खाली कर दिया था. लेकिन बंगला की चाभी राज्य संपत्ति विभाग को शनिवार को सौंपी गई. जब राज्य संपत्ति विभाग के कर्मी बंगला में अंदर घुसे तो वह अपना माथा पकड़ कर बैठ गए. करोड़ों के सरकारी पैसे से बना बंगला खंडहर हो गया था. देखकर तो यही लगा कि जितनी मेहनत बनाने में लगी होगी उससे अधिक तो तोड़ने में लगी है. एक – एक समान तहस नहस कर दिया गया है. बंगले में लगे फ्लोर टाइल्स, मार्बल समेत कई जगह फर्श टूटी पड़ी मिली. छत और दरवाजों पर भी हथौड़ा चला है. यहां तक इलेक्ट्रिसिटी बोर्ड तक को नहीं बख्शा। उसे भी उखाड़ दिया गया है.


बंगला छोडऩे से पहले एसी भी निकाला गया. इसके साथ ही स्वीमिंग पूल के हिस्सा भी पाटा हुआ मिला. इस पूल में विदेशी टाइल्स लगी थी। जिनको उखाडऩे के बाद पूल में मिट्टी भर दी गई है.बैडमिंटन कोर्ट की भी फर्श, दीवारें, नेट और टाइल्स उखाड़ दिए गए हैं. इसके साथ ही बंगला में लगी लिफ्ट को भी उखाड़ा गया है.बंगले में लगे सभी एसी, टीवी, फर्नीचर, पंखे और अन्य सामान को शिफ्ट कर दिया गया है. बंगले में मौजूद जिम को भी हटा दिया गया है.

Related posts

Leave a Comment