वेब पर सबसे पहले : 2018 का सबसे बड़ा मेगा इंटरव्यू ऑफ नरेंद्र मोदी

इस साल की शुरूवात का सबसे बड़ा साक्षात्कार नरेंद्र मोदी का जी न्यूज़ ने लिया है.इस दौरान मोदी ने बहुत सारी बातों पर खुलकर बात की.आईए जानते है उस साक्षात्कार के दौरान मोदी ने क्या क्या कहा….

भारत आज वैश्विक मंच पर आकर्षण का केंद्र बन रहा है.आज भारत हर क्षेत्र में बेहतर कर रहा है.एक तो भारत की जीडीपी तेज़ी से बढ़ रही है वही दूसरी तरफ डेमोक्रेटिक वैल्यूज. गुड गवर्नेंस, ट्रांसपरेसी इत्यादि. जब दुनिया देखती है कि ‘ईज़ ऑफ डूइंग बिज़नेस’ में 142 से 100 रैंक पर जाना – ये उनके लिए बड़ी बात है.इसलिए दुनिया भारत की तरफ देख रही है.

सवा सौ करोड़ देशवासियों के जन समर्थन को, शक्ति को विश्व समझता है.इसमें मोदी की कोई भूमिका नहीं है.

कभी कभी कुछ कमियां शक्ति में बदल जाती है.जब मैं पीएम बना तो मेरी आलोचना होती थी कि मोदी को देश का ज्ञान नहीं है तो दुनिया की नीति की क्या बात करेगा.यह मेरे लिए अवसर बन गया.मैं एक आम आदमी की तरह बड़े नेताओं से मिलता रहा और आज भी मिलता हूं.

मैं भले ही क्यें न कितनी बड़ी शक्ति के सामने खड़ा रहूं, मुझे थोड़ी भी दिक्कत नहीं होगी क्योंकि मैं सवा सौ करोड़ देशवासियों के प्रतिनिधि के तौर पर खड़ा रहता हूं.मोदी के तौर पर नहीं.

सिर्फ जीएसटी और नोटबंदी तक मुझे सीमित रखना ठीक नही है. हमने अपने कार्यकाल में टॉयलेट योजना की वजह से बालिकाओं को स्कूल जाना सुनिश्चित किया.उज्जवला योजना की वजह से हमने तीन लाख तीन करोड़ माताओं को गैस वितरित किया.18 लाख गांवों तक बिजली पहुंचाई.जनधन खाता खोला.क्या यह काम नहीं है.

28 करोड़ LED बल्ब वितरित किये.बिजली की बचत हुई.साथ ही पर्यावरण का भी भला किया.

पहले दुनिया दो खेमें में बंटी रहती थी.हर किसी को किसी न किसी खेमें में रहना पड़ता था.पर यह वक्त आईसोलेशन का नहीं बल्कि एक दूसरे से जुड़े रहने का है.नेतृत्व करने का है.

देश ने हमें चुनाव जीतने और सरकार चलाने के लिए नहीं बल्कि देश की सेवा के लिए चुना है.

हमें भारत को सीमित नहीं रखना चाहिए.योग दिवस से भारत को वैश्विक पहचान मिली.यह एक ऐसी कामयाबी रही जिसको पूरे विश्व ने स्वीकार किया.

मैं सीएम नहीं था तो भी संगठन के लिए कार्य किया है.सीएम बनने के बाद भी किया और पीएम बनने के बाद भी कर रहा हूं.मैं एक मात्र ऐसा नेता हूं जिसने देश लगभग 84% जिलों में रात बिताई है.लोगों से संवाद करना मुझे अच्छा लगता है.

एक देश एक चुनाव पर पीएम ने कहा कि आज पुरा देश लगातार चुनाव के मूड मे रहता है.एक चुनाव गया नहीं कि दूसरा आ जाता है.बार बार चुनाव की वजह से देश की प्रगति की रफ्तार कम पड़ती है.साथ ही चुनाव के दौरान तू तू मैं मैं से भी मुश्किलें होती है.अलग अलग चुनाव की वजह से देश के काबिल ऑफसर महीनों तक चुनाव की वजह से व्यस्त रहते है.इसकी वजह से देश को बहुत ज्यादा खर्च का नुकसान उठाना पड़ता है.साथ ही सुरक्षाबलों को भी सीमा छोड़कर चुनाव कराने पड़ते है.साथ ही शिक्षकों की व्यस्तता भी बढ़ जाती है.

एक वर्ष में सत्तर लाख EPF योजना जुड़े है.दस करोड़ लोगों ने मुद्रा योजना का लाभ लिया है.ये भी तो रोजगार है.ऐसी व्यवस्थाएं बहुत हो रही है.

GEM हमारा ऑनलाईन पोर्टल है.जिसके माध्यम से बिना टेंडर से हम अपने सामान बेच और खरीद सकते है.

किसानों के लिए बहुत कम दर पर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना लागू किया.प्रधानमंत्री कृषि सिचाईं योजना शुरू किया. साथ ही सरकार का लक्ष्य है कि वह 2022 तक किसानों की आय दो गुनी करेगी.

अगर आप ईमानदारी और निष्ठा के साथ काम करते है तो आपकी टीम भी साथ देती है.

यह हमारा दुर्भाग्य रहा है कि जाति के नाम पर रादनीति चलती आ रही है.लेकिन हमें देश की एकता को बनाए रखना है.हमें एक भारत श्रेष्ठ भारत की कल्पना को सकार करना चाहिए.

हमें यह सोचना चाहिए कि हमारी शिक्षा में कहां कमी रह गयी कि हम राष्ट्र गान का सम्मान न करें.

विकास के लिए, सबका साथ सबका विकास के लिए हमेशा समर्पित रहेंगे. मुझे चुनाव के लिए सोचने का वक्त नहीं है, मुझे देशवासियों की चिंता है.

जबतक सवा सौ करोड़ देशवासियों के लिए जीता रहूंगा तबतक थकूंगा नहीं.ईश्वर ने हमें जो भी दिया है हमें उसका सर्वाधिक उपयोग देश के लिए करना चाहिए.मेरे डॉक्टर मित्र भी मुझे सलाह देते है कि इतना काम नहीं करिए पर क्या करू मुझे बैठना आदत में नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!