बिहार स्पेशल : एक छत के नीचे दुनिया के हर फूड्स: टेस्ट ऑफ बिहार

You can share it


माय टाइम्स टुडे। पटना और बिहार के लिट्टी चोखा के बारे में तो आपने सुना ही होगा.यह बिहार ही नहीं बल्कि पूरे भारत में मोस्ट डिमांडिग फूड के तौर पर प्रसिद्ध है. बिहार आनेवाला हर कोई जब भी बिहार आता है तो वह लिट्टी चोखा का स्वाद जरूर लेता है.यहां तक कि विदेशी सैलानी भी बिहार आते हैं तो लिट्टी चोखा खाना नहीं भूलते है.

अगर आप बिहार आनेवाले है तो आपके लिए खुशखबरी है.अब आप एक ही जगह बिहारी फूड्स के साथ साथ देश विदेश की हर विशेष फुड्स का आनंद ले सकते है.जी हां पटना के गांधी मैदान में 17 अगस्त को ‘टेस्ट ऑफ बिहार’ की शुरूआत हुई. शुरूआत से ही टेस्ट ऑफ बिहार का जादू सर चढ़ कर बोलने लगा है. आज हम आपको बताएंगे कि टेस्ट ऑफ बिहार की विशेषता क्या है…

विशेष रिपोर्ट : 

टेस्ट ऑफ बिहार पटना के गांधी मैदान में स्थित है. यह टेस्ट ऑफ बिहार प्रोजेक्ट के बैनर तले काम करता है, जहां आप एक ही जगह पर दुनिया के तमाम फूड्स का आनंद ले सकते है.

कुल तीन तरह के फूड कोर्ट्स है : 

गेट नंबर 6 : यहां का फूड कोर्ट यूनिवर्सल है. मतलब यहां हर आयु वर्ग एवं परिवार के लोग विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का स्वाद ले सकेंगे. यहां दक्षिण भारत से लेकर उतरी भारत तक के हर प्रकार के खानों का आनंद ले सकते है.

गेट नंबर 7: यहां विशेषकर युवा वर्ग के लिए फूड कोर्ट बनाया गया है. इसकी डिजाइनिंग व लैंडस्केप बीआईटी मेसरा के पटना कैंपस के छात्र रेयान द्वारा किया गया है.डिजाइनिंग में इनोवेटिव मेटेरियल का यूज किया गया है.

गेट नंबर 7A  : यह फूड कोर्ट पूरी तरह से फेमिली के लिए है.जहां पर परिवार के साथ आप खाने का मजा ले सकते है. साथ ही यहां बच्चों के खेलने की व्यवस्था भी की गयी है.

हर तरह के लोगों के लिए विशेष सुविधा : 

टेस्ट ऑफ बिहार एक मात्र ऐसा ओपन फूड प्वाइंट हैं जहां पर हर आयु वर्ग के लोग हर तरह के खाने का आनंद ले सकते है. मॉर्निंग वॉक से लेकर रात के डिनर तक के नाश्ते और खाने का इंतेजाम है यहां.

कुल 40 प्रकार की चाय :

टेस्ट ऑफ बिहार में आप 40 तरह की अलग अलग चाय की चुस्की ले सकते है. यहा सुगर फ्री के साथ ही निकोटिन फ्री चाय की भी सुविधा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के हाथों सम्मानित हो चुके शंभू कुमार की यहां चाय की दुकान है. शंभू बताते है कि यहां आने वाले लोग विशेषकर आम पापड़ चाय की मांग ज्यादा करते है.इसके साथ ही आम फ्लेवर, आंवला फ्लेवर आदि किस्म की चाय मिलती है.

क्या क्या मिलता है यहां : 

समोसा चाट

टिकी चाट इन देसी घी में

मसाला डोसा

प्लेन डोसा

पनीर डोसा

आलू चाट

देहाती चाट

दही भल्ला चाट

दिल्ली स्पेशल भल्ला पापड़ी चाट

पनीर समोसा

लिट्टी चोखा

लिट्टी मटन

लिट्टी विद घुघनी

फ्राइड आईस्क्रीम

वड़ा पाव

पाव भाजी

बिरयानी

देवघर के प्रसिद्ध अट्ठे मीट, जो शुद्ध घी से बनाया जाता है.

इसके साथ ही यहां हर तरह की पनीर, चाऊमीन, डोसा, बड़ा, इडली, मनचुरियन, वेज नॉन वेज हर तरह के फुड्स मिलते है. साथ ही यहां बिहारी फेम की जलेबी, रसगूल्ले और तिलकुट भी उपलब्ध हैं.

खुलने और बंद होने का टाइम

सुबह 6 बजे : मार्निग वॉकर्स के लिए हेल्थ ड्रिंक में जूस, ग्रीन टी, नारियल पानी, नीरा रहेगा.

सुबह 8 बजे : ब्रेक फास्ट में राजमा- चावल, लिट्टी- चोखा, चिउरा- घुघनी, चाइनीज फूड आदि.

दोपहर 11 से शाम 3 बजे : यहां आम लागों के लिए विभिन्न दरों पर वेज और नॉनवेज उपलब्ध होगा.

शाम 4 बजे : विभिन्न प्रकार के पकौड़े के साथ कुल्हड़ चाय, बिहार के फेम मिठाइयों में दही भल्ला, मिल्कशेक, जलेबी आदि रहेगा। जो शाम 7 बजे से रात 9.30 तक उपलब्ध रहेगा.

बिलिंग की विशेष सुविधा : 

यहां आपको अलग अलग काउंटर पर पैसे पे करने की जरूरत नहीं है.आप एक ही काउंटर पर बिल जमा कर सकते हैं. यहां पर डिजिटल भुगतान की विशेष सुविधा है.

यहां परिसर में लिखे कोट्स तो बेजोड़ है:

सोच रहा है लिट्टी ….किस किस से प्यार करूं..

डुबा है इडली सांभर के प्यार में..

यू आर द चिली टू मॉय पनीर..

शराबखानों में काम करने वाली महिलाओं को पहले खाना बनाने की ट्रेनिंग दी और अब वे महिलाएं तरह तरह के खाना बनाकर अपनी जीविका चला रही है.शराब बंदी के बाद उनका रोजगार छूट गया था, लेकिन अब सभी टेस्ट ऑफ बिहार के प्रोजेक्ट के रूप में काम करती है…कमिश्नर आनंद किशोर

इंद्रभूषण मिश्र : संपादक मॉय टाइम्स टुडे।

विशेष सहयोग : आरजे अंजली 

Related posts

Leave a Comment