कलेजा चाहिए खबरों से दिल लगाने के लिए : जश्न ए उर्दू भोपाल

You can share it


माय टाइम्स टुडे,भोपाल।आज भले ही पत्रकारिता मिशन की बजाए फ्रोफेशन बन गयी है। देश के बड़े बड़े कॉरपोरेट्स मीडिया पेशे को उत्पाद के रूप में बेचने लगे हैं। दिन पर दिन लोगों का खबरों और उसकी विश्वसनियता पर संदेह होने लगा हैं। लेकिन खबरों के बाजारीकरण के इस दौर में भी बहुत से ऐसे पत्रकार है जो किसी भी किमत पर सच से समझौता करने को तैयार नहीं है। जश्न ए उर्दू समापन समारोह में अपनी बात रखते हुए वरिष्ठ पत्रकार डॉ मेहताब आलम ने ये बात कही। उन्होंने शायराने अंदाज में कहा कि आज के दौर में भी सामाज और उसके हितों के लिए पत्रकारिता करना मुश्किल नहीं है बस कलेजा होना चाहिए खबरों से दिल लगाने के लिए। डॉ आलम ने उर्दू पत्रकारिता के संबंध में बोलते हुए कहा कि ऐसा नहीं है कि लोग उर्दू के अखबार नहीं पढ़ते है। देश के हर हिस्से में लोग उर्दू के अखबार पढ़ते है। लेकिन उर्दू पत्रकारिता का जितना विकास होना चाहिए वह नहीं हो पाया है। इसके पीछे कॉरपोरेट्स का बड़ा हाथ है।वही इस मौके पर जाने माने पत्रकार अारिफ मिर्जा ने कहा कि पत्रकारिता के लिए पत्रकार ही नहीं सामाज के लोगों को भी आगे आने की जरूरत है।उन्होंने सरकार से मांग किया कि सभी विद्यालयों में उर्दू को ऐच्छिक भाषा के रूप में शामिल करना चाहिए।
इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार पंकज शुक्ला ने कहा कि एक दौर था जब व्यक्ति संस्थान बनाते थे और आज की स्थिति यह है कि संस्थान व्यक्ति का निर्माण करने लगे है। यह पत्रकारिता के लिए सही नहीं है। हमें पाठकों को वही खबरें परोसनी चाहिए जो सही और उनके हित की हो। श्री शुक्ला ने पत्रकारिता में सामाज की भूमिका पर बोलते हुए कहा कि अगर सामाज के लोगों ने पत्रकारिता पर दवाब नहीं बनाया तो यह बहक जाएगी। समापन समारोह के मौके पर कई शायरों ने शायरी और ग़जलें पढ़ कर लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिए।

कोई जहर देता है मुझे या कि दवा देता है, जो भी मिलता है मेरे दर्द को बढ़ा देता है.याद आई मुझे तेरी तो भींग गयी मेरी पलकें,  मां कि मानिन्द मुझे कौन दुआ देता है….

शहर के मशहूर शायर शाहिद कामिल ने इन पंक्तियों के माध्यम से जश्न ए उर्दू की महफिल में चार चांद लगा दिए।साथ ही इस मौके पर कौसर सिद्दीकी की पुस्तक ‘मध्यप्रदेश में उर्दू शायरी की कदामत’ और इकवाद वेदार की पुस्तक धूप और साया का विमोचन किया गया।

Related posts

Leave a Comment