IIT के लिए कैसे करें गणित की तैयारी : विशेष साक्षात्कार

You can share it


माय टाइम्स टुडे। आज माय टाइम्स टुडे की टीम साक्षात्कार के सिलसिले में पटना के न्यूटन ट्यूटोरियल में थी. यह पटना ही नही वरन् देश का एक अग्रणी संस्थान हैं.
जहां हर साल हजारों बच्चों का इंजीनियरिंग ओर मेडिकल की प्रवेश परीक्षा में चयन होता हैं. आज हमारे साथ न्यूटन ट्यूटोरियल के गणित के जाने माने शिक्षक नीलाभ कुमार पांण्डेय जी थे। आज हमनें इंजीनियरिंग ओर मेडिकल की तैयारी करने वाले बच्चों के मार्गदर्शन के लिए इनसे कुछ सवाल जवाब किया.

प्रश्न – दसवीं की परीक्षा पास करने के बाद ज्यादतर बच्चों के मन में यह सवाल उठते रहता हैं कि वह आगे क्या करें? वह इंजीनियरिंग की तैयारी करे या BA/B.Sc करें?
उतर- सबसे पहले तो हमलोग बच्चों को परखते हैं।इसके लिए हमलोग टैलेंट सर्च टेस्ट का आयोजन करते हैं और इस टेस्ट के अधार पर हम उसकी दक्षता और कौशलता को परखते हैं.
अगर बच्चा बेहतर करता हैं तो हम उसे इंजीनियरिंग और मेडिकल के लिए सलाह देते हैं.
वैसे भी विज्ञान आज बहुत जरुरी हो गया हैं तो कम से कम बारहवीं तक की पढ़ाई तो विज्ञान विषय में करना ही चाहिए.
प्रश्न- बारहवीं के बाद फिर से इंजीनियरिंग /मेडिकल की तैयारी के लिए रुकना चाहिए?
उत्तर- मुझे लगता हैं इसका बेहतर आंकलन बच्चा स्वयं ही कर सकता हैं. वह स्वयं अपनी क्षमता को समझे और आगे बढ़े।उसे लगता हैं कि वह कर सकता हैं तो वह रुके अन्यथा आज कैरियर के अन्य विकल्प भी हैं.
प्रश्न- तनाव और डिप्रेशन से बचने के लिए क्या करें?
उत्तर- इसके लिए बच्चों को पढ़ाई के बोझ से बचना चाहिए।उन्हे पढ़ाई के साथ साथ अन्य काम भी करना चाहिए.
उन्हें ऐसे लोगों से मिलते रहना चाहिए जो उनको सकारात्मक दिशा में बढ़ने के लिए प्रेरित करें. हम लोग भी बच्चों को समय समय पर मॉटिवेट करते रहते हैं.
प्रश्न-  कम समय में ज्यादा अंक लाने के लिए गणित के कौन से पाठ महत्वपूर्ण हैं?
उत्तर-  कैलकुलस ओर कोर्डिनेट जियोमेट्री.
प्रश्न – गणित की तैयारी कैसे करें?
उत्तर – सबसे पहले NCERT को ठीक तरह से पढ़ना चाहिए, फिर क्लास के मॉडियूल्स को पुरा करना चाहिए। साथ ही पिछले साल के प्रश्नों को भी ठीक से हल करना चाहिए। मुझे लगता हैं इतना प्रयाप्त हैं . अगर आपने इतना कुछ कर लिया हैं तो आप घनश्याम तेवानी की गणित को कर सकते हैं.

Related posts

Leave a Comment